Breaking News

मोबाइल बैटरी में विस्फोट,8 माह की बच्ची की हुई मौत

Adarsh Bharat Team | Nishu Malik

Updated on : September 15, 2022


मोबाइल बैटरी में विस्फोट,8 माह की बच्ची की हुई मौत


उत्तर प्रदेश के बरेली में एक आठ महीने की बच्ची की कथित तौर पर उसके पास रखे फोन की बैटरी फटने से मौत हो गई है. इकॉनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक घटना उस समय हुई, जब बच्ची के बगल में रखा कीपैड फोन चार्ज हो रहा था. बताया जा रहा है इस फोन को बच्ची के माता-पिता ने छह महीने पहले ही खरीदा था.

उत्तर प्रदेश पुलिस के अनुसार यह माता-पिता की लापरवाही का मामला है. फिलहाल पुलिस ने इस संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया है. बच्ची के पिता सुनील कुमार कश्यप 30 वर्षीय मजदूर हैं और परिवार एक निर्माणाधीन मकान में बिना बिजली कनेक्शन के रह रहा था. वे रोशनी के लिए सोलर प्लेट और बैटरी का इस्तेमाल करते है और उसी से अपने फोन को चार्ज कर रहे थे.

बच्चे के बिस्तर पर रखा था फोन
रिपोर्ट के अनुसार जिस समय घटना हुई उस वक्त कश्यप काम पर थे, जबकि उनकी पत्नी अपनी बेटियों के साथ घर पर थीं. कश्यप की पत्नी कुसुम ने अपने बयान में कहा कि उसने फोन को उस बिस्तर पर रखा था जहां बच्चा सो रहा था और फिर वह एक पड़ोसी से बात करने लगी. तभी यह हादसा हो गया.

आग से झुलसी मासूम
कुसुम ने कहा कि वह एक पड़ोसी से बात कर रही थी, तभी मैंने अपनी बेटी नंदिनी को मदद के लिए चिल्लाते हुए सुना. मोबाइल फटने से चारपाई में आग लग गई थी और नेहा बुरी तरह आग से झुलस गई थी. मैंने कभी नहीं सोचा था कि हमारी बेटी के लिए एक मोबाइल फोन घातक हो सकता है, नहीं तो मैं इसे वहां नहीं रखती.

बच सकती थी बच्ची की जान
इस मामले में कश्यप के भाई अजय कुमार ने कहा कि फोन यूएसबी केबल से चार्जर हो रहा था, लेकिन उससे एडॉप्टर कनेक्ट नहीं था, इसलिए उसमें विस्फोट हो गया. कुमार ने कहा कि मेरे भाई के पास प्राइवेट अस्पताल में नेहा के इलाज के लिए पैसे नहीं थे, नहीं तो उसकी जान बच सकती थी.

पहले भी सामने आए हैं इस तरह के मामले
स्मार्टफोन में आग लगने या धमाका होने का यह पहला मामला नहीं है. इस तरह के मामले पहले भी कई बार सामने आए हैं. इस तरह के हादसे से बचने के लिए जरूरी है कि आप डिवाइसेज के रखरखाव से लेकर चार्जिंग तक लापरवाही ना बरतें. स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियां भी जरूरी स्टैंडर्ड्स का पालन करने को कहती हैं.

भूलकर भी करें ये गलतियां
किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में लगी बैटरी उसमें आग लगने या धमाका होने की वजह बन सकती है. इसके अलावा बैटरी के एक निश्चित तापमान से ज्यादा गर्म होने पर भी बैटरी में आग लग सकती है. ऐसे में बेहद जरूरी है कि आप डिवाइस को रात भर के लिए चार्जिंग में लगाकर छोड़ने. इसके अलावा फोन को तकिए के नीचे रखकर सोने से भी बचना चाहिए.

लोकल ब्रैंड के चार्जर न करें इस्तेमाल
इसी तरह कार के डैशबोर्ड पर रखने से भी फोन गर्म हो सकता है और फोन गर्म होने पर उसे थोड़ी देर के लिए इस्तेमाल ना करें और ठंडा होने दें. समझें कि फोन पर ज्यादा दबाव तो नहीं पड़ रहा या फिर आप ऐसा केस या कवर तो नहीं इस्तेमाल कर रहे, जो उसके गर्म होने की वजह बन रहा है. लोकल ब्रैंड के चार्जर इस्तेमाल करने से बचें. साथ ही फोन को आधिकारिक सर्विस सेंटर से ही रिपेयर करवाना चाहिए.



leave a comment

आज का पोल और पढ़ें...