Breaking News

पाकिस्तान में बाढ़ ने किए हालात खराब,क्लाइमेट चेंज से हुई 8 गुना बारिश

Adarsh Bharat Team | Nishu Malik

Updated on : August 30, 2022


पाकिस्तान में बाढ़ ने किए हालात खराब,क्लाइमेट चेंज से हुई 8 गुना बारिश


पाकिस्तान की जलवायु परिवर्तन मंत्री शेरी रहमान ने कहा है कि भीषण बारिश के कारण देश के 150 जिलों में से 110 जिलों में बाढ़ की तबाही हुई है. जिससे 3.3 करोड़ लोगों पर असर पड़ा है और कम से कम 1,000 लोगों की मौत हुई है. जबकि यूरोप, चीन और दुनिया के कुछ अन्य इलाके भीषण सूखे का सामना कर रहे हैं, पाकिस्तान अपने हाल के इतिहास में सबसे खराब बाढ़ का सामना कर रहा है. पाकिस्तान की ताजा बाढ़ 2010 की तुलना में अधिक बड़ी है, जिसे ‘सुपरफ्लड’ कहा गया था. जिसमें लगभग 2 करोड़ लोग प्रभावित हुए थे. माना जाता है कि 2010 की बाढ़ में 2,000 से अधिक लोगों की मौत हुई थी. रहमान ने इसे क्लाइमेट चेंज का नतीजा बताया है.

इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक इस साल पाकिस्तान में असामान्य रूप से हुई ज्यादा मानसूनी बारिश के कारण सिंध, बलूचिस्तान बुरी तरह बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. हालांकि पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा पर बाढ़ का असर है. अगस्त में पाकिस्तान में सामान्य बारिश (50.4 मिमी.) से ढाई गुना (176.8 मिमी.) बारिश हो चुकी है. सिंध में सामान्य मात्रा से लगभग आठ गुना और बलूचिस्तान में पांच गुना बारिश हुई है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो-जरदारी ने भी बारिश के इस बदलते पैटर्न को क्लाइमेट चेंज से जोड़ा है. उनका कहना है कि कॉर्बन उत्सर्जन में पाकिस्तान का हिस्सा बहुत कम है, फिर भी देश को उसका सबसे ज्यादा खामियाजा कभी बाढ़ और कभी सूखे के रूप में भुगतना पड़ता है.

वही दक्षिण-पश्चिम मानसून जो भारत बारिश लाता है, पाकिस्तान में भी बारिश का कारण बनता है. हालांकि पाकिस्तान में मानसून का मौसम भारत की तुलना में थोड़ा कम समय तक है. ऐसा इसलिए है क्योंकि मानसूनी हवाएं भारत से उत्तर की ओर पाकिस्तान में जाने में समय लेती हैं. पाकिस्तान में आधिकारिक मानसून का मौसम 1 जुलाई से शुरू होता है और सितंबर तक चलता है. हालांकि ज्यादातर बारिश जुलाई और अगस्त के महीनों में होती है. पीएमडी के मुताबिक तीन महीने के इस मानसून सीजन के दौरान पूरे पाकिस्तान में सामान्य वर्षा की मात्रा 140 मिमी. रहती है.

इस सीजन में अब तक पाकिस्तान में 354.3 मिमी. बारिश हो चुकी है, जो सामान्य 113.7 मिमी से तीन गुना अधिक है. पाकिस्तान में बारिश की स्थिति अब तक भारत से काफी अलग रही है. अगस्त में भारत में सामान्य से मुश्किल से 6 प्रतिशत अधिक बारिश हुई है. देश में अब तक के पूरे सीजन में सामान्य से सात फीसदी ज्यादा बारिश हुई है.



leave a comment

आज का पोल और पढ़ें...