Breaking News

पति प्रिंस फिलिप के बगल में दफनाई गईं महारानी,दुनियाभर ने दी अंतिम विदाई

Adarsh Bharat Team | Nishu Malik

Updated on : September 21, 2022


पति प्रिंस फिलिप के बगल में दफनाई गईं महारानी,दुनियाभर ने दी अंतिम विदाई


क्वीन एलिजाबेथ II को सोमवार को अंतिम विदाई देते हुए उनके ताबूत को विंडसर कैसल स्थित सेंट जॉर्ज चैपल के शाही ‘वॉल्ट’ (शव कक्ष) में नीचे रख दिया गया. महारानी को पति प्रिंस फिलिप के बराबर में दफनाया गया. इस दौरान ब्रिटिश शाही परिवार में सर्वाधिक वरिष्ठ अधिकारी लॉर्ड चैम्बरलैन ने ‘राजदंड’ तोड़ने की रस्म पूरी की. शाही परिवार और सैकड़ों की संख्या में लोगों ने दिवंगत महारानी को अंतिम विदाई दी. ब्रिटेन की घरेलू गुप्तचर सेवा ‘एमआई5’ के पूर्व प्रमुख एंड्रयू पार्कर ने ‘सफेद राजदंड’ को तोड़ने की रस्म पूरी की और इसे महारानी के ताबूत पर रख दिया. यह रस्म राजशाही के प्रति उनकी सेवाओं की समाप्ति का प्रतीक है.

70 साल तक राजगद्दी पर आसीन रहीं महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का आठ सितंबर को बाल्मोरल कैसल स्थित उनके आवास में निधन हो गया था. वह 96 वर्ष की थीं.

महारानी के ताबूत को अंतिम संस्कार के लिए जुलूस की शक्ल में धीरे-धीरे विंडसर कैसल की ओर ले जाया गया, जहां राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया. इस कार्यक्रम में भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन समेत दुनियाभर के करीब 500 नेता एवं शाही परिवार के लोग शामिल हुए हैं.

Highlights:

किंग चार्ल्स और कैमिला, क्वीन कंसोर्ट ने कमिटल सर्विस के बाद चैपल से बाहर आ गए हैं.

महारानी एलिजाबेथ का ताबूत विंडसर कैसल में रॉयल वॉल्ट में उतारा गया.

#WATCH | London, The UK: The Committal Service for Queen Elizabeth II begins at St George’s Chapel in Windsor Castle. It will end with the coffin being lowered into the Royal Vault.

(Source: Reuters) pic.twitter.com/O4G32d9pPC

— ANI (@ANI) September 19, 2022

 

क्वीन एलिजाबेथ II के ताबूत को कार के जरिये करीब 32 किलोमीटर का सफर तय करके विंडसर कैसल ले जाया जा रहा है, जहां उन्हें पति प्रिंस फिलिप के बराबर में दफनाया जाएगा. महारानी के ताबूत की अंतिम यात्रा के दौरान रास्ते में हजारों लोगों की भीड़ उन्हें आखिरी विदाई  देने उमड़ पड़ी है.महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के ताबूत को वेस्टमिंस्टर एबे के ग्रेट वेस्ट डोर से बाहर ले जाया गया. अब उसे राजकीय बग्गी में वेलिंगटन आर्क तक ले जाया जाएगा. जहां उनका पूरे राजकीय वैभव के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा.

लंदन के गॉथिक एबे में सोमवार को अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जुटे ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्यों के साथ ही दुनियाभर के सैकड़ों नेताओं और गणमान्यों ने सिर झुकाया और हाउसहोल्ड कैवलरी के सदस्यों ने ‘द लास्ट पोस्ट’ की धुन बजाई. इसके बाद वहां उपस्थित लोगों ने दो मिनट का मौन रखा और फिर राष्ट्रगान गाया गया. महारानी के पाइपर ने शोक धुन बजाई और प्रार्थना सभा समाप्त हुई.

कैंटरबरी के आर्कबिशप जस्टिन वेल्बी ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की अंत्येष्टि के समय प्रार्थना में कहा कि जनता का महारानी के प्रति ‘हमने जो प्रेम और स्नेह देखा है, वह कुछ ही नेताओं के लिए देखने को मिलता है.’ वेस्टमिंस्टर एबे में महारानी के अंतिम संस्कार के दौरान प्रार्थना में, इंग्लैंड के चर्च के आर्कबिशप ने कहा कि महारानी ‘खुशमिजाज थीं, बहुत से लोगों के लिए वह हमेशा मौजूद रहती थीं, उन्होंने बहुत से लोगों के जीवन को छुआ.’

इससे पहले बड़ी संख्या में लोग लंदन में सर्द रात की परवाह किए बगैर संसद के वेस्टमिंस्टर हॉल में ‘लाइंग इन स्टेट’ में रखे महारानी के ताबूत के अंतिम दर्शन करने के लिए पहुंचे. शोक व्यक्त करने वाले अंतिम लोग सोमवार सुबह साढ़े छह बजे के कुछ ही देर बाद वेस्टमिंस्टर हाल से चले गए. अब महारानी के ताबूत को वेस्टमिंस्टर एबे ले जाया जाएगा, जहां स्थानीय समयानुसार पूर्वाह्न 11 बजे (भारतीय समयानुसार साढ़े चार बजे) उनका अंतिम संस्कार होना है.

‘लाइंग इन स्टेट’ में रखे महारानी के ताबूत के दर्शन करने वाले आखिरी व्यक्ति ने कहा कि यह ‘मेरे जीवन का सबसे अहम क्षण’ रहेगा.‘रायल एयर फोर्स’ की असैन्य सदस्य क्रिस्टीना हीरे ने ‘द इंडिपेंडेंट’ समाचार पत्र से कहा कि उन्होंने ताबूत को दो बार देखने का फैसला किया, ‘क्योंकि इसके लिए बहुत कम समय मिला और यह बहुत महत्वपूर्ण है.’दिवंगत ब्रिटिश महारानी के ताबूत को वेस्टमिंस्टर हॉल से सोमवार को वेस्टमिंस्टर एबे और अंतत: विंडसर कैसल ले जाया जाएगा.

राष्ट्रपति मुर्मू महारानी के अंतिम संस्कार में हिस्सा लेने के लिए शनिवार शाम को यहां पहुंची थीं. मूर्मु समेत दुनियाभर के 500 नेता और विश्व भर से आए शाही परिवार के सदस्य अंतिम संस्कार में शामिल होंगे. इस दौरान एबे में करीब दो हजार लोगों के एकत्र होने की संभावना है.

‘ट्रांसपोर्ट फॉर लंदन’ ने अनुमान जताया कि लंदन में मार्ग पर 10 लाख से अधिक लोग खड़े होंगे.

अंतिम संस्कार से पहले शाही परिवार ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का सोमवार को अंतिम चित्र जारी किया, जिसमें वह हल्के नीले रंग की पोशाक पहने अपने चिर परिचित अंदाज में मुस्कुराती नजर आ रही हैं. महारानी के ताबूत को घोड़ों वाली तोपगाड़ी से निकाला जाएगा और फिर राजकीय शववाहन से विंडसर पैलेस तक ले जाया जाएगा. यहां पर महारानी के शव को उनके दिवंगत पति प्रिंस फिलिप की कब्र के साथ दफनाया जाएगा, जिनका पिछले साल निधन हो गया था.

सोमवार को सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की गई है और देश भर में टीवी पर तथा उद्यानों एवं सार्वजनिक स्थलों पर बड़े स्क्रीन के माध्यम से अंतिम संस्कार का सीधा प्रसारण किया जाएगा. लंदन के इतिहास में एक दिन के सबसे बड़े पुलिस अभियान के तहत हजारों पुलिस अधिकारी ड्यूटी पर तैनात रहेंगे.



leave a comment

आज का पोल और पढ़ें...